Architectural ruins

SHRI RAM BHAWAN,GHASAULI,MEERUT.

SHRI RAM BHAWAN,GHASAULI,MEERUT. श्री राम भवन, घसौली,मेरठ कभी इलाक़े की शान हुआ करती थी ये खूबसूरत हवेली,बड़े ही चाव से बनवाया था इस हवेली को छः गाँव के ज़मींदार पंडित श्रीराम शर्मा जी ने,ये गाँव थे घसौली, सिंधावली, मुरलीपुर, ड़ाबका, सतवाई , एवम् दायमपुर । हवेली का द्वार पंडित जी के परिवार की हिन्दू धर्म के प्रति अगाध श्र्धा एवं समर्पण के भाव का प्रतीक जान पड़ता है , 100 वर्षों से भी अधिक पुरानी ये हवेली मंत्र मुग्ध कर देती है । और ज़हन में ये ख़याल आता है की.......... *जिसकी जैसी नीयत है... वो वैसी कहानी रखता है !!* *कोई परिंदों के लिए बंदूक...तो कोई परिंदों के लिए पानी रखता है!!* अधिकांश परिवार के सदस्य अब यहां गाँव में नहीं रहते , अब वे गाज़ियाबाद, देहरादून, मेरठ आदि राज्यों के विभिन्न हिस्सों में जाकर बस गए हैं। यह विडंबना ही हैं कि ऐसी खूबसूरत इमारत आज इस खंडर हालत में पड़ी हैं ।वहाँ मौजूद ज़मींदार पंडित श्रीराम शर्मा जी के पड़पोते पंडित घनशयाम शर्मा जी बड़े दुखद मन से कहते हैं कि बुज़ुर्गों की इस हवेली रूपी निशानी से एक ईंट भी गिरती हैं तो मेरा ह्रदय रोता हैं लेकिन क्या कर सकते हैं परिवार का छिन्न-भिन्न होने के उपरांत ऐसा ही हो जाता हैं । वर्ष 1974 में रिलीज़ हुई प्रसिद्ध फ़िल्म किसान और भगवान के कुछ दृश्यों को इसी हवेली में फ़िल्माया गया था जिसके प्रमुख कलाकार थे मशहूर फ़िल्म अभिनेता फ़िरोज़ खान, दारा सिंह, योगीता बाली,अभि भट्टाचार्य आदि ,लेकिन अब यह खूबसूरत हवेली खंडहर के रूप में तब्दील हो चुकी हैं ।

What's Your Reaction?

like
0
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0